कम्प्यूटर का विकास (Development of Computer)

कम्प्यूटर का विकास (Development of Computer)

कम्प्यूटर का विकास (Development of Computer) : Computer के विकास के लिए बहुत से वैज्ञानिको ने अपना योगदान दिया है तथा उन्होंने बहुत से Computer का निर्माण किया तथा समय समय पर उन सभी में सुधार करके एक अच्छे एवं कार्यकारी कंप्यूटर का निर्माण किया जिनमे से कुछ इस प्रकार हैं। कम्प्यूटर का विकास (Development of Computer)

कम्प्यूटर का विकास (Development of Computer)

1. अबेकस(The Abacus) :

यह एक प्राचीन गणना यन्त्र है जिसका अविष्कार प्राचीन बेबीलोन में अंको की गणना के लिए किया गया था |
इसे संसार का प्रथम गणना यन्त्र कहा जाता है |  इसमें तारो(wires) में गोलाकार मनके(beads) पिरोये जाती है जिसकी सहायता से गणना को आसान बनाया गया | इसका अविष्कार जॉन नेपियर से सन 1617 ई. में किया था |
कम्प्यूटर का विकास (Development of Computer)
Abecus

2 . पास्कलाइन(Pascaline) : 

फ्रांस  के गणितज्ञ ब्लेज पास्कल(Blaise Pascal) ने सन 1642 ई. में प्रथम यांत्रिक गणना मशीन(Mechanical Calculator) का आविष्कार किया | यह केवल जोड़ या घटा सकती थी |  अतः इसे एडिंग मशीन (Adding Machine)भी कहा गया |

3 .  डिफरेंस इंजन और एनालिटिकल इंजन(Difference Engine , Analytical Engine) :

ब्रिटिश गणितज्ञ चार्ल्स बैबेज(Charles Babbage) ने सन 1822 ई. डिफरेंस इंजिन का अविष्कार किया जो भाप से चलता था तथा गणनाएं कर सकता था | 1842 ई. में चार्ल्स बैबेज ने एक स्वचालित मशीन एनालिटिकल इंजन बनाया जो पंचकार्ड के दिशा निर्देशों के अनुसार कार्य करता था तथा मूलभूत अंकगणितीय गणनाएं (जोड़ , घटना , गुणा , भाग ) कर सकता था |

4.  सेंसेस टेबुलेटर (Census Tabulator):  

1890 ई. में अमेरिका के वैज्ञानिक हर्मन हेलेरिथ(Harman Hollerith) ने इस विद्युत चलित यन्त्र का अविष्कार किया , जिसका प्रयोग अमेरिकी जनगणना में किया गया था | इन्हे पंचकार्ड (Punch Card) के अविष्कार का श्रेय भी दिया जाता है | 
 

 5. मार्क -1(Marc-1) :

1937 ई. से 1944 ई. के बीच आईबीएम(IBM – International Businees Machine)  नामक कम्पनी के सहयोग तथा वैज्ञानिक हावर्ड आइकन(Haward Aikan) के निर्देशन में विश्व के प्रथम पूर्ण स्वचालित विद्युत यांत्रिक(Electro-Mechanical) गणना यन्त्र का अविष्कार किया गया इसे मार्क -1 नाम दिया गया |

6. ए.बी.सी.(ABC – Atanasoff-Berry Computer) : 

1939 ई. में जॉन एटनासॉफ और क्लिफोर्डबेरी  नामक वैज्ञानिक ने मिलकर पहला “इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल कम्प्यूटर “(Elecronic Digital Computer) का अविष्कार किया |  इन्हीं के नाम पर इसे एबीसी(ABC) का नाम दिया गया |
 

7.  एनिएक(ENIAC – Elecronic Numerical Integrator and Calculater) :  

1946 ई. में अमेरिकी वैज्ञानिक जे.पी.एकर्ट (J.P. Eckert) तथा जॉन मुचली(John Mauchly)ने सामान्य कार्यो के लिए “प्रथम पूर्ण इलेक्ट्रॉनिक ” (Fully Electronic) कम्प्यूटर का अविष्कार किया जिसे एनिएक(ENIAC) नाम दिया गया |

8. इडवैक(EDVAC – Electronic Discrete Variable Automatic Computer) :  

एनिएक कम्प्यूटर में प्रोग्राम में परिवर्तन कठिन था | इससे निपटने के लिए वान न्यूमेन(Van Neumann)  ने संग्रहित प्रोग्राम की अवधारणा दी तथा  इडवैक(EDVAC) का विकास किया |

9.  यूनीवैक(UNIVAC – Universal Automatic Computer) :  

यह प्रथम कम्प्यूटर था जिसका उपयोग व्यापारिक और अन्य सामान्य कार्यो के लिए किया गया |
प्रथम व्यापारिक कम्प्यूटर यूनीवैक-1(UNIVAC-1) का निर्माण 1954 में जीईसी(GEC – General Electric Corporation) ने किया |

10.  माइक्रो प्रोसेसर(Micro Processor) : 

1970 में इंटेल(Intel) कम्पनी द्वारा प्रथम माइक्रो प्रोसेसर ” इंटेल – 4004 “(Intel-4004) के निर्माण ने कम्प्यूटर क्षेत्र में क्रांति ला दी | इससे छोटे आकर के कम्प्यूटर का निर्माण संभव हुआ , जिन्हें माइक्रो कम्प्यूटर का नाम दिया गया |

                क्या आप जानते हैं ?

1.  चार्ल्स बैबेज को कम्प्यूटर के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए “आधुनिक कम्प्यूटर विज्ञान का जनक” कहा जाता है |
2.  लेडी एडा  आगस्टा ने एनालिटिकल इंजन में पहला प्रोग्राम डाला था , अतः उन्हें दुनिया का पहला  प्रोग्रामर भी कहा जाता है |  उन्होंने दो अंको की संख्या प्रणाली(बाइनरी प्रणाली ) का भी अविष्कार किया। 
Share with Others
ALSO READ :  Fundamental of Computer

2 thoughts on “कम्प्यूटर का विकास (Development of Computer)”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.